Search
  • Dr MP Singh

मदद वही व्यक्ति कर सकता है जिसके अंदर इंसानियत जागृत है : एमपी सिंह



Faridabad News, 21 December 2019 (bharatdarshannews.com) : धारूहेड़ा स्थित जीकेएन इंडिया लिमिटेड कंपनी में 20 दिसंबर 2019 को तीन दिवसीय कार्यक्रम संपन्न हुआ जिसमें देश के जाने माने मास्टर ट्रेनर और प्राथमिक सहायता के अधिकृत लेक्चरर डॉ एमपी सिंह ने आपदा प्रबंधन, प्राथमिक सहायता, इफेक्टिव कम्युनिकेशन, फायर सेफ्टी पर प्रैक्टिकल तथा डेमोंसट्रेशन कराया डॉक्टर एमपी सिंह ने फैक्ट्री के अंदर होने वाले मशीनरी एक्सीडेंट से बचने के सभी टिप्स दिए तथा बोलचाल के प्रभावी तरीकों को बताते हुए सांस गति रुक जाने पर सास को वापस लाने के लिए सीपीआर प्रक्रिया को बताया और सभी से प्रैक्टिकल कराया डॉ. एमपी सिंह ने किसी भी आपदा से बचने के लिए डीआर एबीसी की विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि पहले अपनी सुरक्षा  करते हुए  रोगी की सुरक्षा  करनी चाहिए और  उसके रेस्पॉन्स को  चेक करने के लिए जोर जोर से आवाज लगानी चाहिए या उसके कानों के पास  क्लैपिंग करनी चाहिए  प्राथमिक सहायता देने से पहले  अपने हाथों मैं  दस्ताने पहन लेने चाहिए  या  पॉलिथीन  लपेट लेनी चाहिए मुंह को रुमाल से बांध लेना चाहिए या मास्क पहन लेना चाहिए यदि लंबे बाल है तो किसी भी माध्यम से बालों को ढक लेना चाहिए डॉ एमपी सिंह ने बताया कि यदि घायल या चोटिल आपकी बातों का जवाब देते हैं  तो  उन्हीं के आधार पर प्राथमिक सहायता करनी चाहिए  गंभीर अवस्था में अति शीघ्र  अस्पताल भेज देना चाहिए डॉ एमपी सिंह ने कहा कि  घायल व्यक्ति की मदद वही व्यक्ति कर सकता है जिसके अंदर इंसानियत जागृत है  या जो दूसरों के दुख को अपना दुख समझता है  वह  अन्य लोगों की मदद लेकर उनके प्राणों की रक्षा के लिए  सार्थक प्रयास  करता है किसी को  पुलिस, फायर ब्रिगेड तथा एंबुलेंस के लिए फोन करने के लिए कहते हैं तो किसी को क्राउड मैनेजमेंट तथा ट्रैफिक कंट्रोल I  किसी को ह्यूमन चैन बनाकर वेरीकेट करने के लिए तो किसी को अपनी मदद के लिए बुलाते हैं  इस प्रकार से किया गया कार्य किसी भी घायल और चोटिल व्यक्ति को जीवन दान दे सकता है डॉ एमपी सिंह ने रोड एक्सीडेंट तथा फायर सेफ्टी पर मॉक ड्रिल भी कराई इस अवसर पर असिस्टेंट मैनेजर नवनीत  डिप्टी मैनेजर अजय कुमार तथा निपुण मिगलानी एचआर मैनेजर क्षितिज निखार तथा उषा तनेजा सीनियर एग्जीक्यूटिव संगीता तथा नीतू कुमारी मुख्य रूप से मौजूद रहे

0 views0 comments