Search
  • Dr MP Singh

भारतीयों के लिए मंदिर एक आस्था की जगह : एमपी सिंह














Faridabad News, 25 Feb 2019 : 25 फरवरी 2019 को सिद्धदाता आश्रम में श्री श्री 1008 श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी ने सभी पुजारियों के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जिसमें  सुप्रसिद्ध शिक्षाविद समाजशास्त्री और दार्शनिक प्रोफेसर एमपी सिंह ने बतौर मुख्य वक्ता कहा कि मंदिर भारतीयों के लिए एक आस्था की जगह है जहां पर अधिकतर दीन दुखी लोग आकर भगवान से प्रार्थना और आराधना करके मनचाहा फल चाहते हैं जिसमें पुजारियों की अहम भूमिका रहती है डॉ एमपी सिंह ने कहा कि मंदिरों में कार्यरत सभी पुजारियों को अपनी वेशभूषा का विशेष ध्यान रखना चाहिए और उसका सम्मान करना चाहिए अपने चरित्र में किसी भी प्रकार की गिरावट नहीं आने देना चाहिए क्योंकि हजारों लोग उनका अवलोकन कर रहे होते हैं मंदिर में पूजा करने वाले सभी लोग पुजारियों के सामने नतमस्तक होते हैं और उन्हें श्रेष्ठ पुरुष मानकर भगवान की तरह उनकी पूजा भी करते हैं इसलिए पुजारियों को उनका विश्वास कभी नहीं तोड़ना चाहिए सभी बहन बेटियों को यथा योग्य सम्मान देना चाहिए शिष्टाचार को अपनाना चाहिए व्यवहार कुशल होना चाहिए प्रभावी बोलचाल के तरीकों को अपनाना चाहिए साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए तथा समय प्रबंधन पर विशेष बल देना चाहिए आगंतुकों की साइकोलॉजी को पहचाना चाहिए तथा छल कपट द्वेष भाव से दूर रहना चाहिए डॉ एम पी सिंह ने कहा कि श्रद्धा और भाव से मंदिर में पूजा अर्चना करनी चाहिए किसी को झूठा आश्वासन कभी नहीं देना चाहिए डॉ एमपी सिंह ने कहा कि पुजारियों को प्रबंधन समिति के साथ  तथा  मंदिर में पूजा अर्चना करने आने वाले आगंतुकों के साथ  तालमेल बिठाकर के रखना चाहिए और अपने नैतिक दायित्व को निभाना चाहिए इस कार्यशाला में सभी प्रशासनिक  गतिविधियों  पर  प्रकाश डाला गया  तथा  पुजारियों को  क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए  विषय पर विस्तृत जानकारी भी दी गई डॉ एमपी सिंह ने कहा कि पब्लिक के बीच में ही कुछ गंदी सोच के लोग मंदिर में आ जाते हैं और काफी बड़ा नुकसान पहुंचा जाते हैं इसलिए पुजारियों को सतर्क और अलर्ट भी रहना चाहिए डॉ एमपी सिंह ने  आज  के माहौल को देखते हुए  आतंकवादियों से  बचाव के तरीकों की विस्तृत जानकारी देते हुए  शहादत हुए धरतीपुत्र युगपुरुष वीर जवानों को श्रद्धा सुमन भी अर्पित किए इस अवसर पर पीठासीन गुरुवर ने डॉ एमपी सिंह को फल फूल और वस्त्र देकर सम्मानित किया तथा सभी पुजारियों को भी अंग वस्त्र और फल बैठकर अपना आशीर्वाद प्रदान किया

0 views0 comments