Search
  • Dr MP Singh

बोर्ड परिक्षा दे रहे विद्यार्थियों एंव परिक्षाओं में डयूटी दे रहे अध्यापकों के लिए सेमिनार का आयोजन




एस डी हाई स्कूल मैं बोर्ड परीक्षा दे रहे विद्यार्थियों और परीक्षा में तैनात अध्यापकों के लिए एक दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया गया जिसमें देश के सुप्रसिद्ध शिक्षामित्र समाजशास्त्री और दार्शनिक प्रोफेसर एमपी सिंह ने कहा की परीक्षाओं को सकारात्मक सोच पर लेना चाहिए परीक्षा हर इंसान को हर कदम पर देनी होती है लेकिन विद्यार्थियों के लिए यह लिखित परीक्षा बहुत महत्व रखती है क्योंकि इसके आकलन के बाद विद्यार्थियों का ग्रेड तय किया जाता है और उसी ग्रेड के आधार पर अगली कक्षा में दाखिला भी होता है डॉ एमपी सिंह ने कहा कि परीक्षाओं में नकल नहीं करनी चाहिए परीक्षा में पास होना बहुत आसान होता है जो विद्यालय के अंदर अध्यापकों ने महत्वपूर्ण प्रश्न बताएं होते हैं या यूनिट टेस्ट तिमाही और छमाही परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं उनकी पुनरावृति करने पर भी विद्यार्थी पास हो सकता है लेकिन अधिकतम अंक लाने के लिए और दूसरे विद्यार्थियों से आगे निकलने के लिए उनको टेस्ट मॉडल पेपर से भी तैयारी करनी चाहिए और कुछ थोड़े समय के लिए टेलीविजन मोबाइल लैपटॉप आदि से दूर रहना चाहिए तथा नकारात्मक सोच के व्यक्तियों से नहीं मिलना चाहिए डॉ एमपी सिंह ने कहा की इन दिनों में मेडिटेशन की बहुत जरूरत होती है समय पर खाना समय पर पढ़ना बहुत ही जरूरी है नकारात्मक सोच पर परीक्षाओं को नहीं लेना चाहिए और पेपर खराब होने की स्थिति में गलत कदम नहीं उठाना चाहिए यदि किसी कारण से कोई पेपर खराब भी हो जाता है या अच्छे अंक नहीं आते हैं तो कोई घबराने की बात नहीं है उसमें अगली बार सुधार किया जा सकता है डॉ एमपी सिंह ने माता पिता के लिए भी संदेश दिया कि विद्यार्थियों पर अधिक प्रेशर बनाना उचित नहीं है विद्यार्थियों की क्षमता को पहचानना चाहिए और सही दिशा में उनको सपोर्ट करना चाहिए कई बार माता पिता की वजह से विद्यार्थी गलत कदम उठा लेते हैं जिस को सहन करना परिवारी जनों के लिए बहुत ही असंभव हो जाता है इस अवसर पर  विद्यालय की प्रधानाचार्य रेनू मित्तल ने डॉ एम पी सिंह का स्वागत करते हुए धन्यवाद किया तथा इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से उमा दत्त शर्मा उषा मनविंदर कोर रणजीत कौर रवीना सुदेश आशा कमल कुंज आदि की विशेष भूमिका रही 

0 views0 comments