Search
  • Dr MP Singh

दुर्घटना में घायल ब्यकित के दर्द को अहसास करे, भीड़ लगाने से बेहतर घायलों को अस्पताल ले जायें :डॉ एम



अरुणोदय उत्कर्ष /अरूण सिंह चंदेल, फरीदाबाद - 20 जून 2019 रेड क्रॉस सोसायटी के सचिव विकास कुमार के मार्गदर्शन में रेड क्रॉस भवन में चार दिवसीय फर्स्ट एड की प्रोफेशनल ट्रेनिंग चल रही है जिसमें फर्स्ट एड और होम नर्सिंग के अधिकृत लेक्चरर डॉ एमपी सिंह लगातार प्रशिक्षण दे रहे हैं डॉ एमपी सिंह ने बताया की सड़क पर चलते हुए किसी की भी गलती से दुर्घटना हो जाती है और 45 मिनट का समय ही गोल्डन आवर कहलाता है उसी समय में गोल्डन रूल पर कार्य करके घायल या चोटिल की जान को बचाया जा सकता है डॉ एमपी सिंह ने कहा की वहीं प्राथमिक सहायक हो सकता है जो किसी दूसरे के दुख को अपना दुख समझ ले और उसके समय को बर्बाद ना करें तथा पास में भीड़भाड़ ना लगने दे और आसपास के लोगों की मदद लेकर उसकी जान को बचाने का भरसक प्रयास करते हुए नजदीकी अस्पताल को पहुंचा दे डॉ एमपी सिंह ने बेहोशी और सदमे की पहचान बताते हुए उपचार भी बताया है तथा दुर्घटना के समय शरीर का कोई अंग टूट जाता है या उस पर सूजन आ जाती है या उसमें से खून निकलने लगता है तो खून को बंद करने के सभी तरीके हड्डी टूट तथा मोच का उपचार बताया इस कार्यक्रम में विभिन्न कारखानों से एचआर मैनेजर सुपरवाइजर इंजीनियर विभिन्न स्कूलों के अध्यापक तथा कुछ समाज सेविकाओं ने भी भाग लिया कार्यक्रम में प्राथमिक सहायक को क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए तथा उसे कैसा होना चाहिए इसकी भी विस्तृत जानकारी दी इस कार्यक्रम में जिला प्रशिक्षण अधिकारी ईशान कौशिक मनोज कपिल अरविंद शर्मा आदि की अहम भूमिका रही

0 views0 comments