Search
  • Dr MP Singh

छुट्टियों में बच्चें अपने मन मुताबिक प्रोजेक्ट बना सकते हैं : डा.एम पी सिंह



फरीदाबाद के भतोला गांव में श्री विद्या निकेतन स्कूल में सही तरीके से गर्मियों की छुट्टी बताने के लिए एक दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें देश के सुप्रसिद्ध शिक्षाविद समाजशास्त्री दार्शनिक प्रोफेसर एमपी सिंह ने कहा कि गर्मियों में हीट स्ट्रोक और सन स्ट्रोक होने के कारण अधिकतर विद्यार्थी बीमार हो जाते हैं  जिसमें बच्चों को डायरिया हैजा नकसीर आदि देखने को मिलती है अधिकतर विद्यार्थी छोटी उम्र में धूप में बाहर खेलने के लिए निकल जाते हैं या जैसे ही घर के सभी लोग दोपहर को आराम कर रहे होते हैं तो बच्चे साइकिल मोटरसाइकिल स्कूटर लेकर के क्रिकेट फुटबॉल व अन्य खेल खेलने के लिए निकल जाते हैं और सिर पर हेलमेट भी नहीं रखते हैं इसलिए सड़क सुरक्षा के नोडल अधिकारी डॉ एमपी सिंह ने कहा कि सड़क पर चलते हुए सड़क के नियमों की पालना करनी चाहिए गर्मियों में कॉटन के कपड़े पहनने चाहिए तथा खीरा ककड़ी तरबूज और खरबूज का सेवन करना चाहिए अधिक से अधिक तरल पदार्थ जैसे ठंडा पानी नींबू पानी नींबू शिकंजी फलों का रस छाछ लस्सी आदि लेनी चाहिए गर्मियों में अधिकतर लोग नल खोल कर स्नान करते हैं तथा पानी का छिड़काव करते हैं अपने पशुओं को नहलाने में भी पानी की बर्बादी करते हैं तथा वाहनों को खुले पानी से धोते हैं गर्मियों में पानी की बहुत ज्यादा कमी हो जाती है इसलिए पानी को बर्बाद नहीं करना चाहिए बाहर के विक्रेताओं से खाद्य पदार्थ खरीद कर नहीं खाना चाहिए बल्कि घर में ताजा फल सब्जी सलाद का सेवन करना चाहिए पढ़ने के तरीकों को बताते हुए समय प्रबंधन पर भी अधिक जोर दिया है सुबह के समय पढ़ना अत्यंत लाभदायक होता है शाम को सूर्य छिपने के बाद खेलना उचित होता है कुछ बच्चे घूमने के लिए जाते हैं तथा कुछ विद्यार्थी अपने ननिहाल जाते हैं उस समय माता पिता का कंट्रोल नहीं होता है जहां पर अधिकतर लोग बीमार पड़ जाते हैं इसलिए डॉ एमपी सिंह ने कहा कि खुली हवा में सांस लेना चाहिए और ऐतिहासिक स्थानों की यात्रा करनी चाहिए ताकि आपका ज्ञान अपडेट रहे और जो विद्यालय में होमवर्क दिया गया है उसे समय रहते पूरा कर लेना चाहिए मनपसंद कोई भी प्रोजेक्ट तैयार कर सकते हैं और किसी भी विद्वान का साथ और सहयोग लेकर अपने ज्ञान में वृद्धि कर सकते हैं


0 views0 comments